प्रोटीन (Protein) की कमी से क्या होता है?

आइए जानते हैं Protein के बारे में

दोस्तों, प्रोटीन (Protein) की जरूरत आपके वजन और आपके द्वारा ली गई कैलोरी की मात्रा पर निर्भर करती है आपके कुल कैलोरी का 20 से 35 प्रतिशत भाग प्रोटीन से आना चाहिए यानि यदि हर दिन आप 2,000 कैलोरी लेते हैं, तो उसमें से 600 कैलोरी प्रोटीन से प्राप्त होना चाहिए।

बेहतर स्वास्थ्य और सेहत के लिए सिर्फ खाना ही काफी नहीं  है बल्कि उसमें पर्याप्त पोषण का होना भी बेहद जरूरी है। हमारे शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्वों में से एक है प्रोटीन। आज के इस लेख के माध्यम से हम प्रोटीन (Protein) से सबंधित जानकारी प्राप्त करेंगे। मुख्य रूप से इस बात की गंभीरता को भी समझेंगे कि Protein कमी होने पर आपको सेहत से जुड़ी किन परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है?

प्रोटीन (Protein) क्या होता है?

प्रोटीन का गठन कार्बन, हाइड्रोजन, आक्सीजन एवं नाइट्रोजन तत्वों के अणुओं से मिलकर होता है। कुछ प्रोटीन में इन तत्वों के अतिरिक्त आंशिक रूप से गंधक, जस्ता, ताँबा तथा फास्फोरस भी पाया जाता है।

प्रोटीन की कमी से क्या होता है?

Protein की कमी होने पर हमें निम्न समस्याओं का सामना करना पड़ता है -

  •       जोड़ों में अकडऩ के साथ-साथ मांसपेशियों में भी दर्द की समस्या बढऩे लगती है।
  •       हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता घटने लगती है।
  •       शरीर में थकान और शारीरिक कमजोरी महसूस होती है।
  •       बाल और नाखूनों पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। हमारे शरीर में बालों और नाखूनों से जुडीं अधिक समस्याएँ प्रोटीन की कमी के कारण होती है।
  •       इसकी कमी से बच्चों की लंबाई बढ़ना रुक जाती है।
  •       चेहरे पर सूजन आ जाती है।

क्या है प्रोटीन की कमी के लक्षण

  •          प्रोटीन की कमी से जोड़ों में मौजूद तरल पदार्थ का निर्माण कम होने लग जाता है।
  •          कम मात्रा में प्रोटीन लेने से शरीर में सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या कम होती जाती है और हीमाग्लोबिन भी कम हो जाता है।
  •         रक्त में शर्करा का स्तर कम होना।
  •          प्रोटीन की कमी के कारण बार-बार भूख लगती है।
  •          नाखूनों और बालों से सबंधित समस्याएँ प्रोटीन की कमी से उत्पन्न होती हैं।
  •          शरीर में थकान और दर्द की समस्या आना, इसके अलावा बार-बार बीमार पड़ना भी प्रोटीन की कमी के संकेत है। इसके पीछे का कारण प्रतिरोधक क्षमता में कमी आना है


प्रोटीन की कमी दूर कर सकते हैं ये खाद्य पदार्थ

दूध का सेवन

कैल्शियम और विटामिन डी की प्रचुर मात्रा से भरपूर दूध प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत माना जाता है। इसलिए अपनी रोजाना की डाइट में एक ग्लास कम वसा वाले दूध को शामिल करें। इसके अलावा, दूध से बने अन्य उत्पाद जैसे पनीर और दही को भी अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

साबुत अनाज और दाल का सेवन

प्रोटीन की कमी होने पर शाकाहारी लोगों के लिए साबुत अनाज और दाल प्रोटीन के अच्छे स्रोत है।

बीन्स और सी फूड का सेवन

बीन्स और सी फूड में प्रोटीन की अधिक मात्रा पाई जाती है। इसके अलावा इसमें फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

अखरोट का सेवन

यह प्रोटीन का एक अच्छा स्त्रोत माना जाता है। Protein के अलावा इसमें विटामिन बी कॉम्प्लेक्स, आयरन, मैग्नीशियम, कॉपर और जिंक भी काफी मात्रा पाए जाते हैं।

अंडा

प्रोटीन के लिए अंडा सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है। आप इसे अपनी डाइट प्लान में प्रतिदिन के हिसाब से शामिल कर सकतें हैं।

अधिक मात्रा में प्रोटीन का सेवन

ज्यादातर लोग सोचते हैं कि जब प्रोटीन की कमी से शरीर से इतने नुक्सान है तो क्यो ना अधिक मात्रा में प्रोटीन का सेवन किया जाए। इसलिए आपको बता दें कि अधिक मात्रा में प्रोटीन का सेवन भी शरीर के लिए नुकसानदेह है। इससे शरीर में कीटोन की मात्रा बढ़ जाती है जिसे उत्सर्जित करने में शरीर को अधिक मेहनत करनी पड़ती है। इसके अलावा शरीर में कब्ज, हृदय रोग और कैंसर जैसी घातक बीमारियाँ हो सकती हैं।

0 Comments:

Post a Comment