कोरोना वायरस: जानें ऑक्सीजन लेवल कैसे बढ़ाएं?

कोरोना वायरस, जानें ऑक्सीजन लेवल कैसे बढ़ाएं, कोरोना वायरस दूसरी लहर, तीसरी लहर,  ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के घरेलु उपाय। 

भारत में कोरोना के कुल केस दो करोड़ के भी पार हो चुके हैं। लाखों की संख्या में आने वाले नए केस से चिकित्सा व्यवस्था भी गड़बड़ा गई है। कोरोना वायरस की दूसरी लहर का प्रकोप भारत पर खतरनाक साबित हुआ है। ऐसे समय में मरीजों के लिए सबसे बड़ी समस्या रही है ऑक्सीजन की किल्लत।


देश में ऑक्सीजन की कमी के कारण ही कोरोना के मरीजों की मौतों का आंकड़ा बढ़ रहा है। आए दिन समाचारों में कोविड-19 के मरीजों की मौत का कारण ऑक्सीजन का अभाव बताया जा रहा है। अतः ऐसी परिस्थिति में अपने ऑक्सीजन लेवल को लेकर हमें सजग हो जाना चाहिए। 


आज के इस लेख से हम शरीर में ऑक्सीजन बढ़ाने के बेहतरीन उपायों के बारे में जानेंगे और घरेलू तौर पर ऑक्सीजन से संबंधित मुख्य जानकारी भी प्राप्त करेंगे।


1. ऑक्सीजन लेवल कितना होना चाहिए?

उत्तर - विशेषज्ञों के अनुसार सामान्य व्यक्ति का नार्मल ऑक्सीजन लेवल 95% या उससे अधिक होना चाहिए। अगर कोई व्यक्ति फेफड़े या स्लीप एपनिया जैसी बीमारी से ग्रसित है तो उसका ऑक्सीजन लेवल 90% होना चाहिए।


2. ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के तरीके।

हमारे शरीर में ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के लिए एक्सरसाइज और खानपान की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। आइए समझते हैं कि किस तरह से ये तरीके ऑक्सीजन बढ़ाने में कारगर है -


ब्रीदिंग एक्सरसाइज़ - ऑक्सीजन लेवल को ठीक रखने और उसे बढ़ाने के लिए ब्रीदिंग एक्सरसाइज प्राकृतिक तरीके से काम करती है। इस तरह की एक्सरसाइज के माध्यम से सुबह के वक्त ली गई ताजी हवा फेफड़ों को ऊर्जा देती है। जिससे फेफड़े मजबूत होते हैं और उनकी कार्य क्षमता भी बढ़ती है।


  • अनुलोम-विलोम प्राणायाम - ब्रीदिंग एक्सरसाइज में अनुलोम विलोम प्राणायाम सबसे बेहतर होता है क्योंकि यह बहुत आसान है। ऐसे कई उदाहरण कोरोना काल में सामने आए हैं, जिसमें कोरोना से संक्रमित लोग अनुलोम विलोम प्राणायाम के माध्यम से जल्दी रिकवर हो गए। 


आइए जानते हैं अनुलोम-विलोम करने के उचित तरीके के बारे में।


  •  गुब्बारों को फुलाएं - इस क्रिया के दौरान शरीर से ज्यादा हवा का निष्कासन होता है, जिसके फलस्वरूप अधिक मात्रा में ऑक्सीजन ग्रहण की जाती है। अतः यह एक्सरसाइज फेफड़ों को मजबूत बनाती है।


  • श्वास रोक कर - श्वास रोक कर भी फेफड़ों की कार्य क्षमता बढ़ाई जा सकती है। इसके लिए 20 सेकंड से 60 सेकंड तक अपनी श्वास को रोकें। यह तीन बार करें और डॉक्टर की देखरेख में करें।


  • पानी पीने से - हमारे शरीर की कई बीमारियां सिर्फ पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से ठीक हो जाती है। कोरोना वायरस से बचाव के लिए भी विषेशज्ञों ने पर्याप्त मात्रा में पानी पीने की सलाह दी है। पानी में ऑक्सीजन भी मौजूद होती है जो हमारे रक्त के ऑक्सीजन स्तर को बनाए रखती है।


उपयुक्त तरीकों को अपनाकर ऑक्सीजन स्तर बढ़ाया जा सकता है। अगर कोई व्यक्ति पहले से ही इन घरेलू उपायों को अपना लें तो उसे कोरोना का खतरा भी कम होगा और अगर वह इस बीमारी से ग्रस्त भी हो जाएं तो उसे रिकवरी में मदद मिलेगी।


0 Comments:

Post a Comment