जानें रोजाना फाउंडेशन लगाने से क्या होता हैं?

मेकअप में रुचि रखने वाली महिलाओं और लड़कियों के लिए यह सब कुछ फाउंडेशन से ही शुरू होता हैं। देखा जाए तो फाउंडेशन के बारे में हर कोई जानता भी हैं फिर भी अगर कोई मेकअप करने और सीखने कि शुरुआती चरण में हो और इस नाम से असमंजस की स्थिति में हो तो सबसे पहले में उन्हें बता दूं कि यह हमारी त्वचा से सभी तरह के दाग और धब्बों के रंग को त्वचा के रंग के समान कर देता हैं, जिससे हमारी पूरी त्वचा का रंग एक समान दिखाई देता है।

फाउंडेशन हमारी त्वचा से सभी तरह के दाग और धब्बों के रंग को त्वचा के रंग के समान कर देता हैं, जिससे हमारी पूरी त्वचा का रंग एक समान दिखाई देता है।

इसको सामान्यतः मेकअप के बेस के रूप में उपयोग में लिया जाता हैं। ज्यादातर भारी मात्रा में मेकअप करने से पहले इससे त्वचा पर लगाया जाता हैं। इसके अलावा यह सनस्क्रीन, कसैले, मॉइस्चराइज़र के रूप में भी काम में आता हैं। मेक अप बेस के अलावा यह सीधे तौर पर त्वचा के रंग को निखारने में भी काम में आता हैं।

जानें रोजाना फाउंडेशन लगाने से त्वचा पर असर के मिथ और सच्चाई -

मिथ - कईं लोगो का कहना होता हैं कि फाउंडेशन लगाने से त्वचा खराब हो जाती हैं। उनका मानना होता है कि त्वचा के रोम छिद्रों को दिन भर सांस लेने की जरूरत होती हैं, जो इसकी वजह से नहीं हो पाता इसलिए त्वचा को नुकसान ही हैं।


सच्चाई - हालांकि ऐसा बिलकुल नहीं हैं। फाउंडेशन लगा कर बाहर निकलना त्वचा के लिए फायदेमंद ही हैं। यह आपकी त्वचा को सूर्य, धूल - मिट्टी, प्रदूषण और मुक्त कणों से बचाता हैं। यह आपकी त्वचा के लिए सुरक्षित आवरण प्रदान करता हैं।


इसके उपयोग के समय ध्यान देने वाली बातें - फाउंडेशन त्वचा के लिए अच्छा है इसका मतलब यह नहीं है कि आप कैसे भी और कभी भी इसका उपयोग करना शुरू कर दें।

  1. त्वचा पर इसका उपयोग करने से पहले अपने त्वचा की प्रकृति जरूर जाने।

  2. तैलीय त्वचा वालो को हो सके तो इसके उपयोग से बचना चाहिए या फिर किसी एक्सपर्ट से इसके बारे में राय जरूर लें।

  3. इसको त्वचा पर लंबे समय तक लगाए ना रखें और विशेष रूप से रात में इसे लगा के ना सोएं।

  4. हमेशा इसका उपयोग ना करे।

  5. आपको अच्छा फाउंडेशन उपयोग में लेना चाहिए और यह अपनी त्वचा के अनुसार लेना चाहिए।

  6. इसके उपयोग के दौरान यह ध्यान रखें कि रात को सोते समय अपनी त्वचा को अच्छी तरह से साफ कर ले।


सारांश - फाउंडेशन का उपयोग हर बार त्वचा के लिए खराब नहीं होता। यह आपकी त्वचा के लिए फायदेमंद साबित होता हैं अगर आपने इसको उपयोग करते वक्त सावधानी रखी तो अन्यथा यह आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता हैं। Lifes से सम्बन्धित सभी Fact के लिए जुड़े रहिए हमारे पेज Lifes Fact से, अधिक जानकारी के लिए कॉमेंट में अपनी राय दें।


डाइटिंग से वजन कैसे घटाएं?

मोटापे की समस्या ने सिर्फ भारत में ही नहीं पूरे विश्व में हर आयु वर्ग के इन्सान को घेरा हुआ हैं। इसके चलते जब वजन घटाने की बात आती हैं, तब से पहला ख्याल डाइटिंग का आता हैं। वैसे और भी कई विकल्प आते हैं जिसे लेकर लोग सोशल मीडिया से लेकर न्यूज तक वज़न घटाने के लिए बताते हैं।

शुरुआत में अपने स्तर पर लोग डाइटिंग के विकल्प को मुख्य आधार मान कर अपने मोटापे से छुटकारे की सोचते हैं। जिसमें काफी लोग कुछ हद तक वज़न घटाने के बाद तेजी से बढ़ते शरीर की समस्या पैदा कर देते हैं। हालांकि कुछ लोग इसमें सफल भी हो जाते हैं। लेकिन मुख्य सोचने की बात यह हैं कि पूर्ण रूप से मोटापे से छुटकारे के लिए क्या डाइटिंग सही नहीं हैं?

इसके लिए Lifes Fact द्वारा यही तर्क दिया जाता हैं कि बिना डायटिंग वज़न घटाना ज्यादा मुश्किल हो जाता हैं। यानि वजन घटाने के लिए डायटिंग बिलकुल सही विकल्प हैं। फिर भी जो लोग इससे विफल हों चुके हैं, उनके साथ सबके मन में ये सवाल ज़रूर आता हैं कि डाइटिंग से वजन घटाएं कैसे?

इसके लिए Lifes Fact द्वारा यही तर्क दिया जाता हैं कि बिना डाइटिंग वज़न घटाना ज्यादा मुश्किल हो जाता हैं। यानि वजन घटाने के लिए यह बिलकुल सही विकल्प हैं। फिर भी जो लोग इससे विफल हों चुके हैं, उनके साथ सबके मन में ये सवाल ज़रूर आता हैं कि डाइटिंग से वजन घटाएं कैसे?


आइए जानते हैं इन 3 चरणों से -

  1. कार्ब्स कम करके - डाइटिंग में सबसे पहला तरीका यही हैं कि आप अपने खाने के सूची में से स्टार्च, शक्कर और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर चीजों को निकाल दें यानि ऐसे खाद्य पदार्थों को अपनी खाने की सूची में सम्मिलित नहीं करें। आप कम की गई चीजों की जगह अनाज को शामिल कर सकते हैं। ऐसा करने से आपकी भूख का स्तर कम होता जाएगा। पूर्ण रूप से अनाज वाला भोजन जटिल होता हैं। उसे खाने के बाद उसके पचने में समय लगता हैं, इसलिए आपको जल्दी भूख भी नहीं लगती हैं।
  2. प्रोटीन, वसा और सब्जियों को खाएं - आपके नियमित भोजन में मुख्य रूप से एक प्रोटीन का स्रोत, वसा का स्रोत और सब्जियां शामिल होनी चाहिए। कार्बोहाइड्रेट के लिए आप साबूत अनाज भी अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं। डाइटिंग के दौरान भी ये चीजें आपके भोजन की सूची में शामिल होनी चाहिए। जिसमें खास कर साबूत अनाज, जो आपको खाना खाने के कई देर तक भूख नहीं लगाने देगा। कईं लोगो का वजन बढ़ने का कारण यही होता हैं कि वे थोड़ी - थोड़ी देर में कुछ खाते रहते हैं।
  3. एक्सरसाइज ज़रूर करें - वजन घटाना हो या फिर बढ़ाना, खाने के साथ उस स्थिति के हिसाब से एक्सरसाइज करना बहुत ज़रूरी हैं। यह आपके शरीर से कैलोरी को जल्दी से बर्न करेगा। वजन घटाने के लिए जिम में आपके लिए काफी विकल्प होते हैं, जिसमे प्रशिक्षक की सलाह आपका वज़न घटाने में मदद करती हैं। आप घर में भी इसके लिए कई तरह की एक्सरसाईज कर सकते हैं जैसे - कार्डियो, जॉगिंग, रनिंग, साइकलिंग और इसके अलावा स्विमिंग भी आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगी।

सारांश - डाइटिंग के लिए आप कभी भी खुद अपने मन से भोजन कम ना करें। अच्छे स्वास्थ्य के साथ वज़न घटाने के लिए उपरोक्त 3 बातों का हमेशा ध्यान रखें। अधिक जानकारी के लिए जुडे़ रहिए हमारे साथ और कॉमेंट में अपनी राय जरूर दें।