ऐसे होगा होम्योपैथिक दवा से सभी तरह के दाद रोग का रामबाण इलाज।

फफूंदी जैसा परजीवी इन्सान की बाहरी त्वचा पर संक्रमण कर दाद रोग का कारण बनता है, यह परजीवी इन्सान की बाहरी त्वचा पर पनपता रहता हैं। यह रोग जानवर से इन्सान में सिर्फ छूने से फैल सकता हैं, जो एक इन्सान से दूसरे इन्सान में बड़ी आसानी से फैल सकता हैं। दाद वाली जगह पर खुजली आती रहती हैं, जिससे इसके फैलने का खतरा भी बना रहता हैं। आज Lifes Fact के इस पोस्ट से जानेंगे सभी तरह के दाद रोग का सही उपाय होम्योपैथिक दवा से, जिसे आसानी से घर पर बैठ कर किया जा सकता हैं।

Lifes Fact - दाद रोग का रामबाण इलाज, दाद खाज की दवा होम्योपैथिक

इन 6 होम्योपैथिक दवा से करे सभी तरह के दाद रोग का इलाज -


  1. आर्सेनिक एल्बम - दाद रोग में होम्योपैथिक की यह दवा बेहद कारगर हैं। यह दवा शरीर के सभी अंगों पर कार्य करती हैं। यह त्वचा पर अधिक प्रभावित हिस्से, जिस पर खुजली ज्यादा हों। ऐसी परिस्थिति में यह राहत का कार्य करती हैं और इस समस्या से छुटकारा दिलाती हैं।
  2. दुल्कामारा - यह दवा सिर पर दाद, उनसे निकलने वाले खून की समस्या में छुटकारा दिलाती हैं। यह दवा उमस भरे व नमीयुक्त मौसम में भी त्वचा की रक्षा करती हैं, और फंगल इंफेक्शन से बचाती हैं।
  3. नेट्रम म्यूरीएटिकम - लंबे समय से चल रही और पुरानी से पुरानी दाद के इलाज में इस दवा का उपयोग फायदेमंद होता हैं। कोहनी, घुटनों के अलावा सिर वाली तैलीय त्वचा में होने वाले इंफेक्शन से यह दवा आराम दिलाती हैं।
  4. सोरीनम - ये होम्योपैथिक दवा दाद के साथ सभी तरह की त्वचा संबंधित समस्या को ठीक करने में सक्षम हैं। दाद में होने वाली अत्यधिक खुजली में ये दवा काफी कारगर हैं। शरीर के जोड़ और मोड़ वाले हिस्से जैसे कोहनी, घुटनें वाली त्वचा पर होने वाली दाद और उसके घाव के लिए सोरीनम फायदेमंद हैं।
  5. सीपिया - यह दवा मुख्य रूप से दाद से ग्रसित महिलाओं के लिए हैं। इस दवा से ज्यादा पसीने आने की वजह से होने वाले इंफेक्शन में, बदबूदार पसीने में, अधिक खुजली वाली दाद से आराम पाया जा सकता हैं।
  6. सल्फर - ये दवा उन लोगों के लिए बेहद जरूरी हैं, जिन्हें सिर की रूखी दाद से बाल झड़ने की समस्या भी हो। ये दवा रूखी खुजली वाली त्वचा के लिए उपयुक्त हैं।

Note - इन सभी दवाइयों का सेवन होम्योपैथी डॉक्टर की सलाह ले कर करे, अच्छे परिणाम मिलेंगे।


दोस्तों होम्योपैथिक दवा का सबसे बड़ा फायदा यह हैं कि इससे किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नहीं होता हैं। यह इलाज आपकी समस्या के अनुसार चलता हैं। अगर दाद ज्यादा पुरानी हैं तो समय थोड़ा ज्यादा लगेगा।


0 Comments:

Post a Comment